Home Sports ओलिंपिक मेडलिस्ट की मुश्किलें बढ़ीं: दिल्ली कोर्ट ने मर्डर केस में रेसलर...

ओलिंपिक मेडलिस्ट की मुश्किलें बढ़ीं: दिल्ली कोर्ट ने मर्डर केस में रेसलर सुशील कुमार की पुलिस कस्टडी 25 जून तक बढ़ाई

4
0


  • Hindi News
  • Sports
  • Sushil Kumar | Sagar Rana Murder Case; Wrestler Sushil Kumar Judicial Custody Extended By Two Weeks

नई दिल्ली2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

ओलिंपिक मेडलिस्ट रेसलर सुशील कुमार को 23 मई को दिल्ली पुलिस ने मुंडका से गिरफ्तार किया था।

छत्रसाल स्टेडियम में जूनियर नेशनल रेसलर सागर की हत्या के आरोप में गिरफ्तार पहलवान सुशील कुमार की मुश्किलें बढ़ गई हैं। दिल्ली कोर्ट ने शुक्रवार को सुशील की पुलिस कस्टडी 25 जून तक के लिए बढ़ा दी है।

सुशील की 9 दिन की कस्टडी खत्म हो गई थी। इसके बाद उन्हें मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट रीतिका जैन के सामने पेश किया गया था। इंटरनेशनल रेसलर पर मर्डर, हत्या की कोशिश और अपहरण के आरोप हैं।

सुशील को फंसाया जा रहा है: वकील
वहीं, सुशील के वकील बीएस जाखड़ ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए हैं। मीडिया रिपोर्ट में उनके हवाले से कहा गया है कि सुशील को फंसाया जा रहा है। छत्रसाल स्टेडियम में हुए दो गुटों के बीच झगड़े के दौरान सुशील पहलवानों को समझाने और उनके बीच सुलह कराने के लिए गए थे।

जाखड़ ने ये भी दावा किया कि घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस के सामने घायल पहलवानों में से किसी ने भी सुशील का नाम नहीं लिया। अस्पताल के एमएलसी ( संदिग्ध मामलों में इलाज से पहले डॉक्टर पीड़ित का बयान लेते हैं) में कहीं भी सुशील के नाम का जिक्र नहीं है। घायलों में से एक पहलवान सागर की मौत के बाद पुलिस ने सुशील का नाम जोड़ दिया और उन पर अपहरण और हत्या के मामले जोड़ दिए।

घटना का वीडियो भी सामने आया है
जूनियर रेसलर सागर की हत्या का एक वीडियो भी सामने आ चुका है। इसमें ओलिंपियन सुशील कुमार दोस्तों के साथ हॉकी स्टिक से सागर की पिटाई करते हुए दिख रहे हैं। पुलिस के मुताबिक ये वीडियो घटना वाले दिन खुद सुशील कुमार ने अपने दोस्त के मोबाइल से शूट करवाया था, ताकि कुश्ती सर्किट में उनका खौफ बना रहे।

तस्वीरों में घायल पहलवान 23 वर्षीय सागर धनखड़ को जमीन पर पीठ के बल खून से लथपथ पड़ा हुआ देखा जा सकता है। आरोपी सुशील कुमार और तीन अन्य ने उसे घेर रखा था। सभी के हाथ में हॉकी स्टिक देखी जा सकती है। अस्पताल में इलाज के दौरान सागर की मौत हो गई थी। बताया जा रहा है कि यह झगड़ा प्रॉपर्टी विवाद को लेकर हुआ था।

क्या है पूरा मामला?
पुलिस के मुताबिक, 4 मई को रात 1.15 से 1.30 के बीच छत्रसाल स्टेडियम के पार्किंग एरिया में पहलवान के दो गुटों में झड़प हुई थी। इस दौरान फायरिंग भी हुई। इसमें 5 पहलवान जख्मी हो गए। इनमें सागर (23), सोनू (37), अमित कुमार (27) और 2 अन्य पहलवान शामिल थे। सागर ने अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। वह दिल्ली पुलिस में हेड कॉन्स्टेबल का बेटा था।

बताया जा रहा है कि यह झगड़ा प्रॉपर्टी विवाद को लेकर हुआ था। पुलिस को घटनास्थल से 5 गाड़ियों के अलावा एक लोडेड डबल बैरल गन और 3 जिंदा कारतूस बरामद हुए थे।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here